लोग दिल्ली आते हैं इंडिया गेट घूमते हैं और चले जाते हैं । फिर भी उनके पास तस्वीरें होती हैं दिखाने के लिए, याद करने के लिए... लेकिन यहां ... [...]

कुछ भी बोलने-लिखने से पहले मन में सवाल आता है कि कहीं ये अखबारों की सुर्खियां ना बन जाए (समझना जरूरी है- नकारात्मक स्तर की सुर्खियां) या ... [...]