कभी अलग हुए तो ? पता नहीं रह लोगी मेरे बिना ? पता नहीं बस हम जैसे लोगों के साथ यही तो परेशानी है किसी भी सवाल का जवाब पता नहीं... [...]

लोग दिल्ली आते हैं इंडिया गेट घूमते हैं और चले जाते हैं । फिर भी उनके पास तस्वीरें होती हैं दिखाने के लिए, याद करने के लिए... लेकिन यहां ... [...]

कुछ भी बोलने-लिखने से पहले मन में सवाल आता है कि कहीं ये अखबारों की सुर्खियां ना बन जाए (समझना जरूरी है- नकारात्मक स्तर की सुर्खियां) या ... [...]

वो शाम... उस प्रोग्राम को देखते-देखते तुम्हारे कांधे पर सिर रखकर सो गयी थी मैं. कितना सुकून सा मिल रहा था. न तुमने ही मुझे जगाया, मेरा भ... [...]