क्या आप कभी किसी महिलावादी से मिले हैं ? असल में मुझे महिलावादियों की परिभाषा समझ नहीं आती । महिलावादी क्या किसी भी तरह का वाद ... [...]

कभी अलग हुए तो ? पता नहीं रह लोगी मेरे बिना ? पता नहीं बस हम जैसे लोगों के साथ यही तो परेशानी है किसी भी सवाल का जवाब पता नहीं... [...]

लोग दिल्ली आते हैं इंडिया गेट घूमते हैं और चले जाते हैं । फिर भी उनके पास तस्वीरें होती हैं दिखाने के लिए, याद करने के लिए... लेकिन यहां ... [...]

कुछ भी बोलने-लिखने से पहले मन में सवाल आता है कि कहीं ये अखबारों की सुर्खियां ना बन जाए (समझना जरूरी है- नकारात्मक स्तर की सुर्खियां) या ... [...]

वो शाम... उस प्रोग्राम को देखते-देखते तुम्हारे कांधे पर सिर रखकर सो गयी थी मैं. कितना सुकून सा मिल रहा था. न तुमने ही मुझे जगाया, मेरा भ... [...]

Courtesy- Google Images सुना है कल दो अक्टूबर था- मोहनदास करमचंद गांधी का जन्मदिन, हां-हां वही, बापू का जन्मदिन ! लाल बहादुर शास्त्र... [...]

courtesy- google images बच्चों का शारीरिक शोषण। जब भी इस तरह की बातें सुनाई देती हैं तो दिल धक से हो जाता है। लगता है मानो कुछ जान... [...]

-----  ओ भाई... समझ जा, मां-बहन पर ना जइयो वक्त थोड़ा रिवाइंड... ------ तेरी तो म..बीईईईईप... , तेरी तो ब...बीईईईईप.... साले ... [...]

Pic Courtesy: Mohd Javed देश की राजधानी और दिल वालों की दिल्ली. इसकी बात ही निराली है और बात अगर यहां की चकाचौंध की हो तो शब्द कम प... [...]